कोरो’ना से बर्बाद हुई देश की अर्थव्यवस्था – अब हर व्यक्ति को मिलेंगे 65-65 हज़ार रुपए

जब से ये कोरोना महामरी आई है तबसे कई देशो की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पंहुचा है। हर देश अपनी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लेन के लिए सरे हत्कंडे अपना रहा है। इसी कड़ी में जापान ने नकद राहत देने की एक ऐसी योजना तैयार की है, जिसमें 18 साल तक की उम्र के सभी लोगों को 65-65 हजार रुपये मिलेंगे। सरकार ने परिवारों को नकद मदद देने के लिए दो ट्रिलियन येन यानी 1,350 अरब रुपये खर्च करने की योजना तैयार की है।

इसके तहत जापान के हर उस व्यक्ति को एक-एक लाख यानी 65-65 हजार रुपये मिलेंगे, जिनकी उम्र 18 साल तक है। यह मदद सभी परिवार को मिलने वाली है, चाहे उनकी आय कितनी भी हो। नए प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा (Fumio Kishida) की सरकार इस योजना को फंड करने के लिए सरकारी डेट (Govt Debt) का सहारा नहीं लेने वाली है।

रिपोर्ट के अनुसार, इसे सरकारी खजाने से फंड करने की योजना है। अत: इस योजना से सरकारी कर्ज बढ़ने का भी खतरा नहीं होगा। सरकार कम आय वाले परिवारों और अल्पकालिक कामगारों को अलग से राहत देने की योजना पर भी काम कर रही है, जिसके डिटेल्स बाद में दिए जाएंगे। किशिदा ने इसी महीने वादा किया था कि उनकी सरकार अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए बड़े स्तर के राहत पैकेज पर काम कर रही है। पैकेज को इस साल के अंत तक संसद से मंजूरी मिल जाने के अनुमान हैं।

भारत की बात करें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सरकार अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की पेशकश कर चुकी है। इसमें प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PM Garib Kalyan Yojana) , पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) आदि शामिल हैं।

विज्ञापन