राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के विचारकों के एतिहासिक स्थलों से जुड़े ज्ञान को लेकर हमेशा से ही विवाद की स्थिति उत्पन्न होती आई है. लेकिन पहली बार ऐसा हुआ होगा कि लोगों को अपना सिर पकड़ कर बैठना पड़ गया.

दरअसल, आरएसएस विचारक देश रतन निगम बीते दिनों एक समाचार चैनल पर परिचर्चा में शामिल हुए थे. इस दौरान उन्होंने दिल्ली में स्थित प्रसिद्ध जामा मस्जिद को लेकर दावा किया कि यह पहले यमुना मंदिर था.

इसके बाद उन्होंने आगरा में स्थित ताजमहल को लेकर दावा किया कि ताजमहल को शाहजहां ने नहींबल्कि इस 11वीं शताब्दी में एक हिंदू राजा ने बनवाया था. इसके बाद उन्होंने दिल्ली के लालकिला को लेकर दावा किया कि लाल किला तोमरों ने बनाया था.

tajj

संघ विचारक के इस अनोखे ज्ञान के सामने आने के बाद कार्यक्रम के एंकर विक्रम चंद्रा ने अपना सिर पकड़ लिया. वहीँ बहस में शामिल अन्य मेहमान भी हैरत में पड़ गए कि आखिर कैसे कोई इतना झूठ बोल सकता है.

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन