Tuesday, October 19, 2021

 

 

 

Prime Time – ताकि हम सुन सकें की हम क्या देखते है

- Advertisement -
- Advertisement -

डिबेट से जवाबदेही तय होती है, लेकिन जवाबदेही के नाम पर अब निशानदेही हो रही है। टारगेट किया जा रहा है। इस डिबेट का आगमन हुआ था मुद्दों पर समझ साफ करने के लिए, लेकिन जल्दी ही डिबेट जनमत की मौत का खेल बन गया। देखिए प्राइम टाइम में ये खास रिपोर्ट…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles