लेख – व्यंग

जगह – शमशान/कब्रिस्तान ( राजनीती वाला नही )

लेखक – 31 मार्च से पहले तक जागरूक,चुनावी सलाहकार, देशहित रक्षक और 31 मार्च के बाद गली के नुक्कड़ पर पाया जाने वाला जीव

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

” बड़े दुःख के साथ यह बताना पड़ रहा है की, जिस इन्टरनेट को हमने अपनी मुट्ठी में करके लगभग 1 साल निकाल दिया .. आज वो हमसे विदा होने जा रहा है…” वो भी क्या दिन थे जब हम किसी के भी फोटो पर धड़ाक से कमेंट मारकर आ जाते थे.. किसी की मजाल है की कोई पकड़ ले .. मार्क जुकरबर्ग तक को लड़की की आईडी बनाकर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज डाली :).. वो भी क्या दिन थे जब youtube लड़कियों के हाथों में मेहँदी लगाने वाले विडियो तक देख डाले थे, ” क्या मस्त लाइफ थी … सुबह होते ही फेसबुक के नोटिफिककेशन और रात में बैटरी खत्म होने पर नींद.. अब तो लगता है सा-रे-गा-मा पा देखने के बाद ही सोना पड़ेगा.. “

विडियो देखें और मेरे साथ कलुआ,रमुआ, तिल्ली, सूरती, मक्खी, बबलू, के गम में शरीक हो ( अगर आंसू ना निकले तो दुखी दिलो के बददुआ लगेगी)

Loading...