mahavir dhruv

ध्रुव राठे ने भाजपा आईटी सेल के एक पूर्व सदस्य से मुलाकात कर भाजपा आईटी सेल के फर्जीवाड़े का खुलासा किया है.

उन्होंने पूर्व सदस्य महावीर के साथ इंटरव्यू में बताया कि किस तरह भाजपा आईटी सेल फर्जी ख़बरों के जरिए प्रोपेगेंडा करती है. महावीरके अनुसार, उसने 2012 से 2015 तक भाजपा आईटी सेल में काम किया है.

महावीर के अनुसार बीजेटी आईटी सेल में शीर्ष 150 सदस्य हैं, जिन्हें प्रधान मंत्री से मिलने का मौका मिलता है, और सभी विशेष सामग्री उनके अनुरूप होती है, जो उसके बाद निचले रैंक सदस्यों द्वारा साझा की जाती है.

महावीर ने कहा, उनका मुख्य काम ‘ट्रोल’ करने का होता है. महावीर कहते हैं, उनके विषय में समाचार की सामग्री में ‘दलित’, ‘हिंदू’ और ‘मुसलमान’ जैसे शब्द होते है.

महावीर बताते है कि समाचार वस्तुओं में नकली सामग्री जोड़ने के बाद, हम 10 अलग-अलग व्हाट्सएप खाते तक पहुंचने के लिए उन्हें दिए गए लैपटॉप का इस्तेमाल करते है, और फिर इन 10 लोगों से इस खबर को अगले 10 लोगों तक भेजने के लिए कहते है. ये सिलसिला जारी रहता ही.

बीजेपी और कांग्रेस आईटी सेल के बीच अंतर के बारे में, महावीर बताते हैं कि वे दोनों ही लगभग समान हैं. कांग्रेस भय की राजनीति करती है, तो भाजपा जातियों के आधार पर भेद करती है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?