Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

सेना में जाति बताने पर गंदे पानी में लगानी पड़ी थी डुबकी: कर्नल शेखावत

- Advertisement -
- Advertisement -

shekha

इन दिनों पैराशूट रेजिमेंट की 21वीं बटालियन में तैनात कर्नल सौरभ सिंह शेखावत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर वायरल हो रहा है. जिसमे वे बता रहे है कि सेना में धर्म और जाति की क्या अहमियत होती है.

कर्नल शेखावत ने वीडियो में बताया कि स्पेशल फोर्स में अगर कोई अपना धर्म या अपनी जाति बताता था तो उसे गंदे पानी में डुबकी लगानी पड़ती थी. उन्होंने कहा कि सेना के जवान के तौर पर आपकी की कोई जाति और धर्म नहीं होता है.

इस वीडियो को 19वीं बटालियन में तैनात पूर्व भारतीय सैन्य अधिकारी रघु रमन ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया है.उन्होंने साथ में लिखा कि अगर आज आपका किसी अच्छे आदमी को सुनने का मन हो रहा है तो कर्नल शेखावत को सुनें क्योंकि उन्होंने एक मिनट में ही वो सबक सिखा दिया जिसे कई राजनेता मिलकर भी हमें नहीं सिखा सके.

वीडियो में शेखावत ने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि जब उन्होंने स्पेशल फोर्स ज्वॉइन की थी तब उनसे भी एक सीनियर ने उनकी जाति और धर्म पूछा था. कर्नल ने तब बताया था कि वे एक हिंदू राजपूत हैं. तब मुझे ऑर्डर दिया गया कि जाओ गंदे पानी में जाकर जुबकी लगाकर आओ. उन्होंने कहा कि मैंने वैसा ही किया और गंदे पानी में डुबकी लगाकर आया.

शेखावत ने कहा कि डुबकी लगाने के बाद मुझे एहसास हुआ कि मैंने कुछ तो गलत कहा होगा कि मुझे ऐसा करने के लिए कहा गया. डुबकी लगाने के बाद मैं जब वापिस आया तो ऑफिसर से ने फिर मुझसे पूछा कि तुम्हारा धर्म और जाति क्या है. तब मैंने कहा कि मेरा धर्म एसएफ है और जाति भी एसएफ है. इस पर उन्होंने कहा कि अब तुम्हें समझ में आ गया है.

सीनियर ने आगे कहा कि, तुम एक अफसर हो तो तुम्हारा धर्म वही होगा जो तुम्हारे जवानों का धर्म है. अगर तुम्हारे जवान हिंदू हैं तो तुम भी हिंदू हो, अगर वह सिख हैं तो तुम भी सिख हो, वह मुस्लिम हैं तो तुम भी मुस्लिम हो और अगर वह इसाई हैं तो तुम भी इसाई हो. एक ऑफिसर के तौर पर तुम सब कुछ हो, हमारी ऐसी ही धारणा है और अगर यह धारणा पूरे देश में भी लागू कर दी जाए तो बहुत सारी प्रॉब्लम्स का हल हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles