rakesh sinha

rakesh sinha

न्यूज़24 चैनल पर डीबेट में भड़काऊ लफ़्ज़ों का इस्तेमाल करने के लिए RSS के राकेश सिन्हा के खिलाफ भड़काऊ बयानबाज़ी और भावनाओं को ठेस पहुंचाने का केस दर्ज किया गया है. दरअसल कुछ दिन पहले न्यूज़24 चैनल में  RSS संघ के राकेश सिन्हा ने मुस्लिम समुदाय पर आपत्तिजनक और भड़काऊ बयानबाज़ी करते हुए डिबेट में  हा था कि “जिस दिन आपके खिलाफ़ प्रतिक्रिया शुरू हो जाएगी,  उस दिन आप 15 मिनट तो क्या 15 सैकेंड नहीं टिक पाएंगे. हिन्दू बहुमत में हैं.”

राकेश सिन्हा का यह बयान कासगंज हिंसा के वक़्त सामने आया है, इसलिए इसे और भी ज़्यादा आपत्तिजनक और  समाज में नफरत फैलाने वाला बयान माना जा रहा है. आप को बता दें कि इस तरह की बातें गुजरात दंगे के दौरान भी की गई थीं. इसलिए संघ परिवार से जुड़े एक ज़िम्मेदार शख्स के मुंह से निकले ऐसे भड़काऊ लफ्ज़ पर समाज में ज़हर और नफरत फैलाने की पूरी उम्मीद की जाती है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आपको बता दें कि, इस भड़काऊ और आपत्तिजनक भाषा के इस्तेमाल के बाद बिहार के सोशल एक्टिविस्ट मेहताब आलम ने राकेश सिन्हा के खिलाफ केस दर्ज कराया है.

सोशल एक्टिविस्ट मेहताब आलम  के मुताबिक, RSS के राकेश सिन्हा ने  मुस्लिम समुदाय पर निशाना साधकर जो टिपण्णी है उससे मुसलमानों की भावनाओं को गहरी ठेस पहुंची है. इस तरह के बयान समाज को तोड़ने और नफरत फ़ैलाने का काम करते हैं.
मेहताब आलम कहा कि, यह बयान भारत की एकता और अखंडता के बिलकुल  खिलाफ है. यह भारतीय समाज के लिए बेहद चिंताजनक वक़त है. इससे पहले  कुछ साल  पहले भी एक पार्टी के नेता ने इसी ही तरफ का बयान दिया था . जिसमें 15 मिनट के वक़्त  की बात कही गयी थी और अब टीवी में खुद को संघ का विचारक बताने वाले राकेश सिन्हा खुलेआम मुस्लिम समुदाय के सफाए की बात करते नज़र आ रहे है.
Loading...