facebook clear to follow its policy otherwise leave facebook

नई दिल्ली | आज की आधुनिक दुनिया में इन्टरनेट लोगो की जिन्दगी का अहम् हिस्सा बन चूका है. जबकि इन्टरनेट का सबसे ज्यादा इस्तेमाल सोशल मीडिया के तौर पर किया जा रहा है. हाल के दिनों में सोशल मीडिया एक ऐसा जरिया बन चूका है जहाँ दुनिया जहाँ की खबरे आपको घर बैठे मिल जाती है. यही नही यह सबसे तेज खबरे पाने का माध्यम भी बन चूका है.

इनमे से फेसबुक सबसे बड़े सोशल मीडिया प्लेटफार्म के रूप में इस्तेमाल होता है. केवल भारत में ही करीब 30 करोड़ फेसबुक यूजर है. लेकिन यह खबर फेसबुक यूजर को परेशान कर सकती है. दरअसल फेसबुक एक ऐसे प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है जिसमे बड़े मीडिया संस्थान की खबरे पढने के लिए यूजर को पैसे देने पड़ सकते है. इसके लिए फेसबुक एक सब्सक्रिप्शन सर्विस शुरू करने पर विचार कर रहा है.

अंग्रेजी अख़बार द टेलीग्राफ के अनुसार फेसबुक इस सर्विस को अक्टूबर 2017 तक शुरू करने पर विचार कर रहा है. फेसबुक के सोशल न्यूज़ पार्टनरशिप हेड कैम्पबेल ब्राउन के अनुसार अक्टूबर से फेसबुक न्यूज़ फीड में दिखने वाली संख्या को भी सीमित कर 10 करने जा रहा है. यहाँ से यूजर न्यूज़ के लिए पब्लिशर्स के होम पेज पर रीडायरेक्ट कर दिया जाएगा.

ब्राउन के अनुसार यूजर को वहां सब्सक्रिप्शन लेना होगा. इसके लिए जल्द ही टेस्टिंग भी शुरू होने वाली है. जिसके बाद से एक तय सीमा के बाद न्यूज़ पढने वालो से फेसबुक कुछ पैसे चार्ज करेगा. वही द स्ट्रीट अख़बार के अनुसार फेसबुक एक पे वाल पर भी काम कर रहा है. इस पे वाल पर केवल वो ही यूजर कुछ पोस्ट कर पायेगा जिसके साथ फेसबुक अग्रीमेंट करेगा. दरअसल फेसबुक यह सब कुछ बड़े मीडिया संस्थान की शिकायत पर कर रहा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?