facebook clear to follow its policy otherwise leave facebook

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha election 2019) को ध्यान में रखते हुए लोगों को सोशल मीडिया कॉन्टेंट से प्रभावित होने से बचाने के लिए फेसबुक (Facebook) ने बड़ा कदम उठाया है.

NDTV की प्राकाशित खबर के अनुसार फेसबुक (Facebook) ने ऐसे 687 पेज को रिमूव यानी हटा दिया है जिनपर लोगों की सोच को प्रभावित करने का शक था. फेसबुक के अनुसार इन सभी पेज या एकाउंट पर लोगों को प्रभावित करने जैसे कंटेंट पोस्ट किए जा रहे थे.

Loading...

वहीँ कांग्रेस की तरफ से इस मुद्दे पर बयान आया है जिसमे कहा गया है की इंडियन कांग्रेस का “कोई भी ऑफिसियल पेज डाउन नही किया गया है तथा हमारे वालंटियर द्वारा संचालित किसी भी पेज पर असर नही पड़ा है, हम फेसबुक के जवाब का इंतज़ार कर रहे हैं की वो हमें लिस्ट मुहैय्या कराएँ की कौन कौन से पेज डाउन किये गये हैं.”

समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक (Facebook) का कहना है कि भारत में होने जा रहे चुनाव के मद्देनजर वह यह कदम उठा रहा है. खास बात यह है कि फेसबुक (Facebook) द्वारा हटाए गए पेज उन एकाउंट के हैं, जो कांग्रेस पार्टी से जुड़े हैं. फेसबुक ने इस कदम के एक बाद बयान भी जारी किया. उस बयान में फेसबुक ने कहा कि हमने 687 पेज और एकाउंट रिमूव कर दिए हैं, जिनमें से ज़्यादातर को हमारे ऑटोमेटिड सिस्टमों ने डिटेक्ट कर सस्पेंड कर रखा था. ये एकाउंट और पेज भारत में ‘को-ऑर्डिनेटिड इनऑथन्टिक बिहेवियर’ में लिप्त थे तथा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) के IT सेल से जुड़े लोगों के थे.

सोशल मीडिया को लेकर चुनाव आयोग (EC) के निर्देश

नामांकन दाखिल करने के दौरान उम्मीदवारों को सोशल मीडिया एकाउंट्स की जानकारी देनी होगी.
सोशल मीडिया पर सभी राजनीतिक विज्ञापनों का प्री-सर्टिफिकेशन अनिवार्य होगा.
चुनाव आयोग ने गूगल, फेसबुक, ट्वीटर और यू-ट्यूब को राजनीतिक दलों के विज्ञापनों को वेरिफाई करने को कहा.
सोशल मीडिया पर विज्ञापनों पर खर्च को चुनावी खर्च का हिस्सा माना जाएगा.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें