कोहराम न्यूज़ – देहरादून – पिछले दिनों ज़ोमेटो का एक मामला काफी चर्चित हुआ था जिससे ना सिर्फ कंपनी की साख पर असर पड़ा था बल्कि काफी हद तक ज़ोमेटो से लोगो ने फ़ूड ओडेरिंग करनी बंद कर दी थी, मामला कुछ यूं था की डिलीवरी बॉय ‘आर्डर’ किये गये खाने से थोड़ा थोड़ा चखकर फिर से उसे सील पैक कर रहा था. यह विडियो वायरल होने के बाद ज़ोमेटो ने ना सिर्फ उस डिलीवरी बॉय की पहचान करके उसे नौकरी से निकाला बल्कि आर्डर डिलीवरी को लेकर भी अपने नियम सख्त किये.

ठीक वैसा ही एक मामला आज दुनिया की सबसे बड़ी ईकॉमर्स कम्पनी अमेज़न के साथ देखने में आया, जहाँ देहरादून की रहने वाली अनुप्रिया ने 5000 रुपए कीमत की एक्सटर्नल हार्ड डिस्क आर्डर की और उन्हें पैकेट खोलने पर जो मिला उसे देखकर आपको भी चक्कर आ सकता है.

क्या था मामला ?

देहरादून की अनुप्रिया ने 3 दिसम्बर को एक्सटर्नल हार्ड डिस्क (wd hdd) जिसकी कीमत 5080 रुपए थी उसे आर्डर किया, चूंकि आर्डर प्रीपेड था इसीलिए पैसो का भुगतान पहले किया गया. उन्हें डिलीवरी डेट 13 दिसम्बर की बताई गयी लेकिन 13 तारिख बीत जाने के बाद भी उन्हें प्रोडक्ट प्राप्त नही हुआ. जिसके बाद उन्होंने कस्टमर सर्विस पर कंप्लेंट की.

कस्टमर केयर पर बात करके अमेज़न प्रतिनिधि ने अपनी गलती स्वीकार की और बताया की प्रोडक्ट की डिलीवरी के लिए उन्हें 17 दिसम्बर तक का इंतज़ार करना पड़ेगा.

लेकिन मामला यहाँ खत्म नही हुआ 17 दिसम्बर की जगह 19 दिसम्बर तक प्रोडक्ट की डिलीवरी नही हुई जिस पर परेशान उपभोक्ता ने तुरंत कस्टमर केयर को कॉल की, इस बार कस्टमर एग्जीक्यूटिव ने उन्हें बताया की अभी 3-5 दिन और इंतज़ार करना पड़ेगा.

लेकिन 25 तारिख तक प्रोडक्ट नही पंहुचा लेकिन इस बार जब कस्टमर केयर पर बात की गयी तो उन्होंने चौकाने वाली बात कही. अपनी गलती को सिरे से ख़ारिज करते हुए अमेज़न प्रतिनिधि ने उल्टा अनुप्रिया पर ही आरोप लगाने शुरू कर दिए की हो सकता है की आप लोगो ने ही कुछ धांधली की हो.

30 मिनट तक ज़ोरदार बहस करने के बाद अमेज़न की तरफ से जवाब आया की वो लोग इस मामले की जांच करेंगे और अगले दिन 26 तारिख को अनुप्रिया को कॉल आई की आप अपनी कंप्लेंट वापस ले लीजिये हम आपको आपका प्रोडक्ट डिलीवर कर देंगे.

अगले दिन पैकेट खोला तो हुए होश फाख्ता

27 दिसम्बर को कुलदीप नमक एक व्यक्ति ने उन्हें कॉल की और खुद को अमेज़न का प्रतिनिधि बताया तथा अनुप्रिया को एक बॉक्स डिलीवर किया. लेकिन डब्बे की हालत देखकर उन्हें कुछ शक हुआ तो उन्होंने अमेज़न प्रतिनिधि के सामने ही बॉक्स ओपन कर डाला, जिसमे उन्हें 100 कीमत वाली एक घड़ी मिली जो आमतौर पर सड़क किनारे या फेरी वाले बेचते रहते हैं.

इस घटना से क्रोधित हुई अनुप्रिया ने तुरंत कस्टमर केयर को कॉल की लेकिन उनकी तरफ से कोई भी जवाब नही आया, सिर्फ इतना कहकर कॉल काट दी गयी की आपकी कंप्लेंट नोट कर ली गयी है.

खबर लिखें जाने तक ना तो अनुप्रिया को उनके पैसे वापस हुए हैं ना ही वो प्रोडक्ट मिला है जो उन्होंने आर्डर किया था. वहीँ सबसे चौकाने वाली बात यह रही की अभी तक अमेज़न की तरफ से कोई भी ऑफिसियल बयान भी नही आया है. इस पुरे मामले को अनुप्रिया ने अपनी फेसबुक वाल पर शेयर किया है.





Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन