355
अमीर हो या गरीब हर मुसलमान के लिए ईद का त्यौहार बहुत महत्वपूर्ण होता है! इस्लामिक फर्ज अदायगी का ईनाम ईद है और ईद के मायने की खुशियां देना है! ऐसे मे अगर कोई मुसलमान ईद की खुशियो से महरूम रह जाये तो ईद की खुशियाँ मनाना ही बेमानी है!
35425243 10216794171786039 2428418846105796608 n
लेकिन जब हम किसी ऐसे के चेहरे की ख़ुशी बन जायें जिनके पास ना तो रहने के लिये ख़ुद का मकान है, न ही दो वक़्त को खाने का सामान और ना ही ईद के दिन पहनने को नया लिबास ! तो ईद की खुशिया दुगुनी हो जाती है!
359
तो ऐसे ही लोगों के साथ ईद मनाने का फैसला लखनऊ के कुछ युवाओ ने किया जो की हम और आप जैसे साधारण से लोग है लेकिन इन की इस असाधारण पहल ने पुराने लखनऊ के बच्चो के चेहरो पर मुस्कान की एक लहर दे दी !
358
इन मासूम बच्चो के साथ ईद मना कर जो सुकून हासिल हुआ। उसका लफ्जों मे बयान नहीं किया जा सकता है! किसी मुसलमान के चेहरे पर मुस्कान लाना ही तो असली इबादत है ! वह भी ईद के मौके पर !

बढ़ेगा हम सभों में प्यार
है ये ही तो दिलों में उम्मीद,
साल भर दें प्यार की ईदी
है ये ही तो हमारी तहज़ीब,
हर त्यौहार का मक़्सद एक
की हर सम्त प्यार रहे शदीद,
आओ बड़े प्यार से आज
हम सब मनाएँ, दिल से ईद

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?