योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में विवाह पंजीकरण को अनिवार्य कर दिया है. इसी के साथ योगी सरकार ने मुस्लिमों को चार निकाह के रजिस्‍ट्रेशन की इजाजत दी है.

योगी सरकार ने उन मुस्लिम युवकों को चार शादियों के रजिस्‍ट्रेशन की इजाजत दी है. जिनकी पहले से ही चार शादी आ चुकी है. इसके साथ ही प्रदेश सरकार ने अन्य मुस्लिम युवकों के लिए भी भविष्य में चार शादी करने का विकल्प खुला रखा है. यानि अगर कोई चार शादी करता है तो उसकी भी शादी का  रजिस्‍ट्रेशन कराया जा सकता है.

पंजीकरण फार्म में मुस्लिमों के लिये चार शादियां तक पंजीकृत कराने की सुविधा दी गई है. हालांकि ये सुविधा केवल मुस्लिम धर्म के मानने वालो को मिली है. अन्य धर्मो के मामले में पहली पत्नी की मोजुदगी होते हुए दूसरे विवाह की इजाजत नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे कि उत्तर प्रदेश सरकार कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश विवाह पंजीकरण नियमावली 2017 को मंजूरी दे दी है. जिसके चलते अब पंजीकरण के बिना कोई शादी मान्य नहीं होगी.