यूपी में अब स्कूलों में योग अनिवार्य कर दिया गया हैं. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद अब आगामी नए सत्र से अपने पाठ्यक्रम में इसे अनिवार्य रूप से शुरू करेगा.

पाठ्यक्रम में योग को शामिल करने के लिए पतंजलि योगपीठ की मदद ली जाएगी. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक अमरनाथ वर्मा ने बैठक के बाद बताया कि शारीरिक शिक्षा और नैतिक शिक्षा के पाठ्यक्रम में योग को अनिवार्य विषय के रुप में शामिल कर लिया गया है.

वर्मा के अनुसार, पहले योग विषय के लिए जहां 5 अंक निर्धारित किए गए थे, वहीं अब माध्यमिक कक्षाओं में योग विषय का 20 अंको का आन्तरिक मूल्यांकन किया जाएगा. उन्होंने बताया कि योग का पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद की विषय समिति पंतजलि योग पीठ की भी मदद लेगी.

इसके साथ ही भाजपा के चुनावी संकल्प घोषणा पत्र पर अमल करते हुए यूपी बोर्ड अब नए स्कूलों को ऑनलाइन ही मान्यता प्रदान करेगा. बोर्ड अपने दस्तावेजों को सहेजने के लिए वर्ष 1980 से लेकर अब तक 35 वर्षों का डिजिटाइजेशन का कार्य भी जल्द शुरू करेगा.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें