उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में एक मदरसे के छात्रों को जय श्रीराम बुलवाने के लिए बेदर्दी से पी’टने के मामले में राज्य सरकार के प्रमुख सचिव, सूचना, अवनीश अवस्थी ने कहा है कि सरकार की छवि को धूमिल करने के लिए यह खबर गलत तरीके से फैलाई गई है।

हालांकि उन्होने स्वीकार किया है कि झड़प उस वक्त हुई जब बच्चे किक्रेट खेल रहे थे, लेकिन छात्रों से धार्मिक नारे लगवाए जाने की बात से उन्होंने इनकार किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की छवि को धूमिल करने और सांप्रदायिक सौहार्द्र को बिगाड़ने के लिए यह खबर गलत तरीके से फैलाई गई है।

बता दें कि दारुल उलूम फ़ैज़ ए आम मदरसे के घा’यल छात्रों का आरोप है कि उन्हें जय श्रीराम बोलने को मजबूर किया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने छात्रों को इला’ज के लिए भेजा और पूछताछ की। एसपी एमपी वर्मा ने मारपी’ट की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि एफआईआर लिखी गई है। नारे लगवाने की बात जांच के बाद साफ होगी। एक युवक को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है।

मदरसे के मौलाना नईम खान के अनुसार, गुरुवार दोपहर की नमाज के वक्त 10-15 बच्चे क्रिकेट खेलने के लिए जीआईसी ग्राउंड पहुंचे। यहां 3-4 युवक आए और बच्चों को भलाबुरा कहते हुए कथित तौर पर ‘जय श्रीराम’ बोलने को कहा। मना करने पर उन्हें बैट छीनकर पी’टा गया। बच्चे बचकर भागे तो उन्हें पत्थर मारे गए। मथुरा और कानपुर के दो लड़कों को काफी चो’टें आईं। तकरीबन हर लड़के का कुर्ता फाड़ दिया गया। एक लड़के की साइकल तोड़ दी गई।

सीओ उमेश त्यागी के मुताबिक, सोशल मीडिया अकाउंट्स की मदद से आरोपियों की पहचान कर ली गई है।’’ इनमें से एक की गिरफ्तारी भी कर ली गई है। जब लड़कों की फेसबुक प्रोफाइल की जांच किया गया तो पता चला कि उनके बजरंग दल से संबंध हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन