विकास के नाम पर यूपी की सत्ता में आई योगी सरकार एक के बाद एक अब तक कई शहरों के नाम बदल चुकी है। अब योगी सरकार के निशाने पर ताजनगरी है। दरअसल योगी सरकार विश्व प्रसिद्ध आगरा जिले के नाम बदलकर अग्रवन करने जा रही है।

इस मामले में जिले के आंबेडकर विश्वविद्यालय से नाम बदलने के प्रस्ताव पर साक्ष्य मांगे गए हैं। योगी सरकार ने इसको लेकर इतिहासकारों से भी बातचीत की है। इतिहास के जानकारों के मुताबिक, आगरा का नाम अग्रवन हुआ करता था। शासन अब ये साक्ष्य तलाशने की कोशिश कर रहा है कि अग्रवन का नाम आगरा किन परिस्थितियों में किया गया।

शासन से आई चिट्ठी के बाद आगरा का नाम बदलने की को लेकर यह अत्यंत शुरुआती प्रक्रिया है। बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया था और ऐतिहासिक मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर दीनदयाल उपाध्याय कर दिया गया था।

yogi 650x400 41514689208

विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग के प्रमुख प्रो. सुगम आनंद के अनुसार, शासन के पत्र के आधार पर कार्य शुरू कर दिया गया है। प्रमाण खोज जा रहे हैं कि कोई तथ्य या साक्ष्य उपलब्ध हो जाए। शोध किया जा रहा है कि इस संबंध में इतिहास को समझा जा सके। यदि कहीं पर अग्रवन का जिक्र भी है तो उसे भी स्थापित किया जा रहा है।

क्योंकि आगरा के नाम को लेकर विभिन्न मत हैं। लेकिन हम प्रमाण या फिर अभिलेख पर शोध कर रहे हैं। डा. बीआरए विश्वविद्यालय इतिहास विभाग में आगरा के अग्रवन नाम को लेकर बैठक आयोजित की गई। आगरा का प्राचीन नाम अग्रवन था या नहीं, इस पर मंथन हुआ। विद्वानों ने कहा कि आगरा गजेटियर में अग्रवन का उल्लेख मिलता है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन