Saturday, October 23, 2021

 

 

 

ABVP के हंगामे के बाद योगी सरकार ने रद्द किया ‘लखनऊ लिटरेरी फेस्टिवल’

- Advertisement -
- Advertisement -

kanh1

राजधानी लखनऊ में स्थित शीरोज हैंगआउट में शुक्रवार को जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के ‘लखनऊ लिटरेरी फेस्टिवल’ में आगमन के चलते अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के कार्यकर्ताओं के हंगामे के बाद प्रशासन ने फेस्टिवल को रद्द कर दिया है.

ध्यान रहे मंच पर कन्हैया के आने के साथ ही कार्यक्रम में पहले से ही मौजूद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के कार्यकर्ताओं ने कन्हैया कुमार को ‘देश का गद्दार’ और कन्हैया कुमार मुर्दाबाद और जय श्री राम के नारों के साथ हंगामा मचाना शुरू कर दिया था.

इस दौरान कन्हैया और उसके समर्थकों पर हमला भी किया गया. हंगामा इतना बढ़ा कि एसिड अटैक पीड़िताओं ने घेरा बनाकर कन्हैया कुमार को बचाया. ऐसे में अब प्रशासन ने आगे के कार्यक्रम पर रोक लगा दी. जिला प्रशासन का कहना है कि कार्यक्रम में शामिल होने वाले अतिथियों की सूची में कन्हैया कुमार और शत्रुघ्न सिन्हा का आना शामिल नहीं था.

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि जिन शर्तों पर कार्यक्रम की अनुमति ली गई थी उसका उल्लंघन किया गया. जिस वजह से आगे का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया. वहीं कार्यक्रम के संयोजक शमीम ए आरजू ने कहा कि वे ओवैसी का कार्यक्रम फेसबुक पर लाइव करेंगे.

बता दें कि कन्हैया कुमार लिटररी फेस्टिवल में अपनी किताब ‘बिहार से तिहाड़’ पर चर्चा के लिए लखनऊ के शीरोज हैंगआउट पहुंचे थे. हंगामे के बाद कन्हैया कुमार ने कहा कि वे देशद्रोही नहीं हैं. वे स्वतंत्रता सेनानी के खानदान से आते हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें गोली भी मार दी जाएगी तब भी वे संघर्ष के मैदान से नहीं हटेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles