उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍य नाथ ने ‘गवर्नर्स गाइड’ किताब के लांचिंग के मौके पर वंदे मातरम को लेकर कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि हम वंदे मारतम नहीं गाएंगे. देश को 21वीं सदी में आगे बढ़ाना चाहते हैं, लेकिन विवाद इस विषय का है कि हम राष्‍ट्रगान या राष्‍ट्रगीत गाएंगे या नहीं? चिंता का विषय है

उन्‍होंने कहा, इन संकीर्णताओं से उभरने के लिए भी हम सबको एक मार्ग तलाशना होगा. देश के प्रत्‍येक नागरिक को भी उसके कार्यकर्ताओं के प्रति हम गाइड करने के लिए कोई पुस्‍तक समय पर ला सकें, इसकी अत्‍यंत आवश्‍यकता है.

योगी ने आगे कहा, कर्तव्य और अधिकार के बीच जब टकराव की बात आती है तो हम सीना तान कर खड़े होते हैं कि ये मेरे अधिकार हैं. इस देश के हर नागरिक को अपने अधिकारों के साथ साथ अपने कर्तव्यों का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

याद रहे पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के कई नगर निगमों में वंदे मातरम को लेकर हुए विवाद में कुछ पार्षदों ने वंदे मातरम गाने से इनकार कर दिया था. जिसके बाद इन पार्षदों के खिलाफ कारवाई की गई थी. इस विवाद की शुरुआत मेरठ से हुई थी. वहीँ इलाहाबाद नगर निगम में भी बीजेपी पार्षदों ने वंदे मातरम को अनिवार्य बनाए जाने के प्रस्ताव रखा तो समाजवादी पार्टी के पार्षदों ने विरोध किया था.

Loading...