मथुरा की हिंसा के पीछे यादव-यादव खेल बताने वाले शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के इस आपत्तिजनक बयान को लेकर यादव जाति में रोष व्याप्त हो गया है जिसे लेकर बनारस हिन्दू विश्वविध्यालय में युवाओं ने शंकराचार्य का पुतला दहन किया.

गौरतलब है की ललितपुर में अल्प प्रवास के दौरान पहुंचे शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने मथुरा की हिंसा पर एक ऐसा बयान दे दिया था जिसपर राजनीतिक तूफान खड़ा हो सकता है. उन्होंने मथुराकांड को शासन की विफलता करार दिया और कहा कि यादव-यादव के चक्कर में इस हिंसा को हवा मिली. आगे बोलते हुए शंकराचार्य ने यूपी की चुनी हुई सरकार को यादवों की सरकार तक कह डाला था.

इस बयान को लेकर युवाओं ने ब्राहमणवाद मुर्दाबाद,शंकराचार्य होश में आओ सरीखे नारों के साथ BHU कैंपस में ही शंकराचार्य का पुतला फूंक डाला. सोशल मीडिया से इस बयान की कठोर आलोचना की जा रही है

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें