ana

मध्यप्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल ने एक और विवादित बयान दिया है। उन्होने ये बयान विवादित बयान दिया है। उनका कहना है कि शहरी इलाकों में महिलाएं अपने बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती है। उन्हे डर होता है कि उनका फिगर खराब हो जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘शहरों में महिलाओं को लगता है कि ब्रेस्टफीडिंग कराने से उनका फिगर खराब हो जाएगा.’ उन्होंने कहा कि बच्चों को जन्म से ही बोतल वाला दूध पिलाया जा रहा है, जिस दिन बोतल टूटेगी, उस दिन उनका नसीब भी टूट जाएगा।

बुधवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने इंदौर के काशीपुरी के आंगनवाड़ी केंद्र पहुंची थी। इस दौरान उन्होने ये बयान दिया। उन्होने आगे कहा, ‘अगर बच्चों को बोतल से दूध पिलाया जाता है तो उनकी किस्मत भी बोतल के तरीके से बिखर जाएगी।’

पटेल ने नवजात शिशु और मां के स्वास्थ्य के लिए एक अच्छे आहार की आवश्यकता पर बल दिया। राज्यपाल ने गर्भवती महिलाओं को सरकारी योजनाओं के लाभों का लाभ उठाने के लिए आंगनवाड़ी केंद्रों के साथ खुद को पंजीकृत करने की सलाह दी।

इससे पहले उन्होने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अविवाहित बताकर विवाद पैदा कर दिया था। जिसके बाद पीएम मोदी की परित्यक्ता पत्नी जशोदाबेन ने कहा कि आनंदीबेन ने अशोभनीय बात कही और प्रधानमंत्री की छवि खराब की, नरेंद्र मोदी मेरे लिए राम जैसे हैं।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?