पीड़िता हुई अदालत में पेश, चिन्मयानंद पर लटकी गिरफ्तारी की तलाक

5:34 pm Published by:-Hindi News

शाहजहांपुर. चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली 23 वर्षीय छात्रा को कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को अदालत में पेश किया गया। इस दौरान एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा ने 164 के तहत महिला जज के सामने अपना बयान दर्ज करवाया।

माना जा रहा है कि धारा 164 के तहत छात्रा के कलमबंद बयान के बाद स्वामी चिन्मयानंद पर गिरफ्तारी की कार्रवाई हो सकती है। एसआईटी से जुड़े एक सूत्र ने नाम गोपनीय रखने शर्त पर आईएएनएस को बताया, ‘अब तक मामले से जुड़े बाकी तमाम गवाहों, शिकायतकर्ता का बयान एसआईटी दर्ज कर चुकी है। सबसे महत्वपूर्ण पीड़िता का बयान बचा था, जिसमें उसने चिन्मयानंद पर दु’ष्कर्म का आरोप लगाया था’

मालूम हो कि अभी तक चिन्मयानंद पर दु’ष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है। पिछले दिनों छात्रा ने मीडिया के सामने आकर इस मामले में अपनी बात रखी थी और धारा 376 तक रे’प का केस दर्ज करने की मांग की थी।

इसके बाद छात्रा की मेडिकल जांच कराई गई, लेकिन चिन्मयानंद पर दुष्क’र्म की धारा नहीं बढ़ी। अब मामले की अगली कार्रवाई छात्रा के कोर्ट में कलमबंद बयान पर टिकी हुई है। छात्रा के पिता ने बताया था कि धारा 164 के तहत कलमबंद बयान के बाद स्वामी की गिरफ्तारी हो सकती है। पुलिस की कार्रवाई से नाराज पिता ने एसआईटी पर पूरा भरोसा जताया है।

अदालत में बयान दर्ज कराने के लिए पहुँची पीड़िता के पिता ने एसआईटी पर चिन्मयानंद के खिलाफ सबूत लीक करने का आरोप लगाया है। पीड़िता के पिता का कहना है कि एसआईटी को सौंपी गई पेन ड्राइव से वीडियो फुटेज लीक किए गए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया में संबंधित फुटेज के स्क्रीनशॉट वायरल होने का हवाला भी दिया। पीड़ित के पिता ने इसकी शिकायत सुप्रीम कोर्ट से करने की बात कही है।

Loading...