Thursday, October 28, 2021

 

 

 

देवास में महिला ने खुद को लगाई आग, कांग्रेस बोली – शिवराज का जंगलराज

- Advertisement -
- Advertisement -

मध्यप्रदेश के देवास में बड़ा ही खौफनाक मामला सामने आया है। एक महिला ने शासकीय भूमि पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान खुद को आग लगा ली। इससे वह करीब 20 प्रतिशत झुलस गई। उसे इलाज के लिए इंदौर भेजा गया है। जहाँ उसका इलाज चल रहा है।

देवास के अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हम वहां से अतिक्रमण हटाने गए थे, लेकिन महिला ने इसका विरोध करते हुए खुद को आग लगा ली। वहीं, महिला के पति ने आरोप लगाया है कि अधिकारियों द्वारा उसकी जमीन से सड़क निकालने का प्रयास किया जा रहा था, जिसे लेकर विरोध किया गया।

बताया जा रहा है कि महिला के खेत में फसल लगी हुई थी इस पर इस कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने जेसीबी ले जाकर फसल को उखाड़ना शुरू कर दिया इस दौरान लोगो ने इस बात का विरोध किया और पर प्रशासन ने उसकी एक नहीं सुनी और फसल नष्ट करने लगे ऐसा देख महिला ने खुद पर पेट्रोल डाल लिया। इसके बाद पुलिस ने आग बुझाई और महिला को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया।

इस मामले में पुलिस ने मंगलवार देर रात 11 बजे शासकीय कार्य में बाधा, बलवा सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। किशोर चावरे की शिकायत पर आरोपित छोटा, रमजान खां, शरीफ खांन, शेर खां, हबीब खां, मोइन खां, शहीद खां, सफदर खां, हमीद खां, अनीसा बी, साबरा बी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने भी ट्वीट किया है। कमलनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा, “बेहद दुःखद तस्वीर… जो खुद को मामा कहलवाते है, उनके राज में आज एक बहन खुद को आग के हवाले कर रही है। देवास ज़िले के सतवास में खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाने का विरोध करते हुए एक बेबस महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया।” पूर्व सीएम ने अपने ट्वीट में आगे कहा, “मै सरकार से माँग करता हूँ कि पूरे मामले की जाँच करवाकर दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, घायल महिला का संपूर्ण इलाज सरकार करवाये, पीड़ित परिवार की हर संभव मदद हो।”

वहीं कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, शिवराज का जंगलराज, —सरकार की प्रताड़ना से तंग आकर आग लगाई; देवास ज़िले के सतवास में खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाने के शिवराज के फ़ैसले का विरोध करते हुये एक बेबस महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया। शिवराज जी, महामारी और मौत के बीच तो कम से कम जनता को मत मारो..! “शवराज चरम पर है”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles