यूपी में बीजेपी को मिली जीत के बाद पार्टी के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह की फिर से पार्टी में वापसी हो गई हैं. भाजपा के यूपी इकाई के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने सिंह के निलंबन को वापस लेने का आदेश दिया है.

माना जा रहा हैं कि बीजेपी के लिए उनकी पत्नी स्वती सिंह द्वारा लखनऊ की सरोजनी नगर सीट से चुनाव जीतने के बाद मायावती को गालियाँ देने का दयाशंकर सिंह पर लगा दाग धुल गया हैं. सरोजनी नगर सेत से मुलायम सिंह की भतीजे अनुराग यादव को स्वाती सिंह ने 34,047 मतों से जीत दर्ज की हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

याद रहे चुनाव से पहले दयाशंकर ने बसपा सुप्रीमो मायावती को ‘वेश्या’ से बदतर बोला था. उनके बोले गए अपशब्दों की वजह से पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था. दयाशंकर को बीजेपी ने 6 साल के लिए पार्टी से तो निकाला था. हालांकि पार्टी ने उनकी पत्नी स्वाति सिंह को टिकट दिया था और वो जीत भी गईं.

क्या कहा था दयाशंकर ने:

‘जो सपना देखा था कांशीराम जी ने, उस सपने को मायावती चूर-चूर कर रही हैं. आज मायावती जी टिकटों की इस तरह से बिक्री कर रही हैं. एक वेश्या भी अगर किसी से कॉन्ट्रैक्ट करती है जो जब तक पूरा नहीं कर लेती उसको नहीं तोड़ती है. पर ये देश की हमारी इतनी बड़ी नेता हैं तीन-तीन बार टिकट बदलती हैं. मायावती जी किसी को 1 करोड़ रुपये पर टिकट देती हैं, 1 घंटे बाद कोई 2 करोड़ रुपये देने वाला मिलता है तो उसको टिकट दे देती हैं. और शाम को 3 करोड़ दे देता है तो उसका भी (टिकट) काट करके उसको दे देती हैं. एक वेश्या से भी बदतर चरित्र की आज मायावती जी हो गई हैं.’

Loading...