सत्ता परिवर्तन के साथ ही के साथ ही उत्तर प्रदेश में देवबंद का नाम बदलने की कवायद शुरू हो गई है. देवबंद सीट से जीते विधायक बृजेश सिंह ने अपनी विधानसभा सीट का नाम बदलने का प्रस्ताव रखा है.

बृजेश सिंह का कहना है कि इस कस्बे का प्राचीन समय में नाम देववृंद हुआ करता था, इसलिए इसका नाम बदला जाना चाहिए. उनका कहना है कि यह क्षेत्र दारुल ऊलूम देवबंद से ज्यादा महाभारत से जुड़े होने की वजह से प्रसिद्ध है. सिंह ने कहा कि सरकार बनते ही विधानसभा में उनका पहला प्रस्ताव यही होगा. सिंह का कहना है कि देवबंद से उनका कोई विरोध नहीं है लेकिन वह देवबंद को उसकी पौराणिकता व ऐतिहासिक पहचान दिलाना चाहते हैं.

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए बृजेश सिंह ने कहा, ‘देवबंद की जगह यह इलाका हमेशा देव व्रन्द नाम से मशहूर रहा. यहां पर महाभारत की राखहांडी है, पांचों पांडवों ने यहीं पर पूजा की थी. गांव में ही जरवाला नाम से जगह है जो कि असल में यक्षवाला है. जहां पर यक्ष ने युधिष्ठिर के प्रश्न पूछे थे.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, ‘यह कोई हिंदु-मुस्लिम का मुद्दा नहीं है. मेरे खुद का गांव जोदड़ाजत रणखांडी गांव का हिस्सा है. महाराभारत का रण यहीं से शुरु हुआ था. मेरठ के पास हस्तिनापुर से कुरुक्षेत्र के लिए पांडव मेरे गांव से होकर ही गुजरे थे.’ जीत के बाद भाजपा द्वारा लगवाए जा रहे होर्डिंग्स में भी देवबंद को देववृंद ही लिखा जा रहा है.

Loading...