arman

arman

गुवाहाटी: फिल्म देखने के लिए मल्टीप्लेक्स में गए अरमान अली (30) उस वक्त बदसलूकी का सामना करना पड़ा. जब वे फिल्म की शुरुआत में राष्ट्रगान के दौरान नहीं उठे. अन्य दर्शकों ने उनके साथ बदसलूकी करते हुए उन्हें पाकिस्तानी बताया. ध्यान रहे, अरमान दिव्यांग है. यानि वे खड़े में होनेमें सक्षम नहीं है.

दिव्यान्गों के लिए एनजीओ चलाने वाले अरमान ने इस पुरे मामले की चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया को खत लिखकर शिकायत की है. इस पूरी घटना को उन्होंने फेसबुक पर साझा किया है. उन्होंने अपनी पोस्ट में बताया कि वे अपने भतीजा और भतीजी के साथ मूवी देखने के लिए गए थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने बताया कि राष्ट्रगान के वक्त मे उनकी भतीजा और भतीजी खड़े हुए थे. वे व्हीलचेयर पर  बैठे रहे. इस दौरान करीब 50 की उम्र के दो लोगों ने उनको देख कर कहा, सामने एक पाकिस्तानी बैठा है.

इस दौरान उनकी भतीजी ने भी उन लोगों से सवाल किया कि  क्या पाकिस्तान से भी लोग यहां फिल्म देखने आते हैं ? ऐसे में अरमान ने कहा कि हां, क्योंकि ये एक सुपरहिट मूवी है. ऐसा लगता है कि थिएटर देशभक्ति साबित करने के लिए लड़ाई का मैदान बन चुके हैं.’

ध्यान रहे सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत देश के सभी थिएटर्स में मूवी से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य है. हालांकि, दिव्यांगों को राष्ट्रगान के सम्मान में खड़े होने से छूट मिली है.

Loading...