babul supriyo 620x400

पश्चिम बंगाल के आसनसोल जिले में पुलिस ने अशांत इलाके में घुसने की कोशिश कर रहे मोदी कैबिनेट के मंत्री बाबुल सुप्रियो और पश्चिम बंगाल भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबुल सुप्रियो  के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है.

बाबुल सुप्रियो पर धारा-144 तोड़ने और एक आईपीएस अफसर पर हमला करने का आरोप लगाया गया है.  सुप्रियो अपने कुछ नेताओं के साथ मिलकर आसनसोल-रानीगंज इलाके में हालात का जायजा लेने के लिए जाना जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया था. इसी दौरान पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों और उनके बीच तीखी नोकझोंक भी हुई थी.

ध्यान हो कि इलाके में रामनवमी के जुलूस को लेकर शुरू हुई हिंसा के बाद स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. अपने ऊपर दर्ज एफआईआर की खबर के बाद सुप्रियो ने दावा किया कि पुलिस ने जानबूझकर ऐसा किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि पुलिस ने मेरे खिलाफ दो प्राथमिकी दर्ज की है. वह चाहते हैं कि मैं अपने राज्य के लोगों से नहीं मिलूं. अपने ऊपर एफआईआर दर्ज होने के बाद बाबुल सुप्रियो ने भी पुलिस के खिलाफ शिकायत दी है. हालांकि, पुलिस ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि इस तरह की प्राथमिकियां दर्ज की गईं हैं, या नहीं.

पुलिस ने बताया कि बीती रात से इलाके में हिंसा की कोई ताजा वारदात नहीं हुई है. इस दौरान कुछ स्थानीय लोगों ने केंद्रीय मंत्री के खिलाफ कथित रूप से नारेबाजी की और उनसे तत्काल इलाका छोड़ने की मांग की.

Loading...