Thursday, June 17, 2021

 

 

 

वसीम रिजवी को फौरी तौर पर गिरफ्तार किया जाये: मुहम्मद अबू अशरफ

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ: मलऊन वसीम रिज़वी के ज़रिये क़ुरान-ए-पाक से सुप्रीम कोर्ट में 26 मुक़द्दसा आयात को हटाने की अर्ज़ी दाख़िल करने पर मुस्लिम स्टूडैंटस आर्गेनाईज़ेशन आफ़ इंडिया के रियास्ती सदर मुहम्मद अबू अशरफ ज़ीशान सईदी ने सख़्त अलफ़ाज़ में मुज़म्मत की है।

उन्होंने कहा है कि वसीम रिज़वी इस्लाम दुश्मन शख़्स है। और वो इस्लाम दुश्मन ताक़तों को ख़ुश करने के लिए हमेशा इस्लाम के ख़िलाफ़ ज़हर उगलता रहा है।वो अपने किए हुए जुर्म से अपनी गर्दन बचाने के लिए इस तरह की हरकत कर रहा है।

मुहम्मद अब्बू अशरफ ने कहा कि क़ुरान-ए-पाक का एक एक हर्फ़ सच्चा है। और ये अल्लाह ताला का कलाम है। इस किताब में शक की गुंजाइश नहीं है।क़ुरान-ए-पाक जब से नाज़िल हुई है। आज तक इस में कोई तरमीम नहीं कर सका। ख़ुद क़ुरआन में इस बात का चैलेंज है कि पूरी दुनिया मिलकर भी क़ुरआन जैसी एक आयत पेश नहीं कर सकती है। ऐसे में मलऊन वसीम रिज़वी के ज़रीया क़ुरान-ए-पाक की 26आयात को इज़ाफ़ी बताना उस के पागलपन की अलामत है।

मुहम्मद अबू अशरफ ने कहा कि वसीम रिज़वी ना सिर्फ इस्लाम और मुस्लमानों के लिए नुक़्सानदेह है,बल्कि ये शख़्स इन्सानियत के लिए भी ख़तरा है। ये चाहता है कि अपनी हरकतों से फ़साद बरपा करे। इस लिए ऐसे शख़्स का आज़ाद घूमना मुनासिब नहीं है। हुकूमत को चाहीए कि वसीम रिज़वी को फ़ौरी तौर पर गिरफ़्तार कर के सख़्त सज़ा दी जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles