Monday, January 24, 2022

वसीम रिजवी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज, वक्फ संपत्ति हड़पने का आरोप

- Advertisement -

रामपुर:  जिला अदालत ने शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी की अग्रिम जमानत (Anticipatory bail) याचिका खारिज कर दी है। उन पर शत्रु संपत्ति को वक्फ संपत्ति में दर्ज करने और वक्फ संपत्ति हड़पने का आरोप है।

इस मामले में रिजवी के साथ आजम खान, उनकी पत्नी तजीम फातिमा, बेटे अब्दुल्ला आजम, सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जफर फारुकी सहित 9 लोग आरोपी हैं. धारा 420, 467, 468, 471, 447, 409, 201, 120B और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम की धारा 3 के अंतर्गत ये मुकदमा दर्ज किया गया है।

ये मुकदमा लखनऊ निवासी अल्लामा जमीर नक़वी ने दर्ज कराया था। मुकदमे में गिरफ्तारी से बचने के लिए शिया बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने ज़िला जज, रामपुर के न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी। ज़िला जज के न्यायालय ने बुधवार को वसीम रिज़वी की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है।

वहीं दूसरी ओर रामपुर से समाजवादी पार्टी के विधायक आजम खान पर मुकदमें दर्ज होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को आजम खान और उनके करीबी पूर्व सीओ आले हसन सहित 6 लोगों पर दो और मुकदमें दर्ज किए गए। जिसके बाद आजम पर अब तक 80 मुकदमें दर्ज हो गए हैं।

बुधवार को नासिर और साजिद की शिकायत पर पालिक ने आईपीसी की धारा 452, 427, 448, 395, 504, 506, 323 और 120 B के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आजम और उनके करीबियों पर घर मे घुसकर मारपीट, तोड़फोड़, जान से मारने की धमकी देना, कीमती समान गायब करना, गाली गलौज करने और भैंसे ले जाने का आरोप है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles