prashant chaudhary 620x400

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमती नगर क्षेत्र में जांच के दौरान कथित तौर पर वाहन नहीं रोकने वाले विवेक तिवारी को गोली मारने के आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी ने कहा कि विवेक ने उसपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की थी। ऐसे में आत्मसुरक्षा में उसने गोली चलाई।

चौधरी ने कहा ‘मैंने देर रात दो बजे एक संदिग्‍ध कार को देखा, उसकी लाइटें बंद थीं। जब मैं कार के पास जांच के लिए गया तो चालक (विवेक तिवारी) ने भागने की कोशिश की और मुझ पर कार चढ़ाने की कोशिश की। इसके बाद मैंने अपने बचाव में गोली चलाई। इसके बाद वह घटनास्‍थल से फरार हो गया।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा,” मैंने उसे गोली नहीं मारी है। गोली गलती से चली है। उसने मुझे कार से तीन बार टक्कर मारकर मेरी हत्या की कोशिश की। मैंने मांग की है कि मेरी भी एफआईआर दर्ज की जाए।” चौधरी ने कहा,” ये भी कहा जा रहा है कि सीएम ने कहा है कि हमारा केस दर्ज न किया जाए। क्या हमारे प्राणों की कोई कीमत नहीं है?”

वहीं आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी की पत्नी ने एएनआई से कहा, ” घटना के बाद से 12 घंटे से अधिक हो चुके हैंं। लेकिन अभी तक हमारी कोई भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है।”  इस मामले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का बयान भी सामने आया है। उन्होंने कहा है कि यह कोई एनकाउंटर नहीं है। इस मामले की पूरी जांच हो रही है। अगर जरूरत पड़ेगी तो सीबीआई की जांच कराई जाएगी।

इस मामले पर उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा है कि ये घटना दुखद है। दो पुलिसवालों के खिलाफ हत्‍या का केस दर्ज किया गया है। मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी. वहीं, पीड़ित परिवार इसे फर्जी एनकाउंटर कह रहा है।

Loading...