Friday, December 3, 2021

भारतीय युवक को बनाया पहले फर्जी नेपाली, फिर किया मुंडन और सिर पर लिखा जय श्रीराम

- Advertisement -

नेपाली पीएम के अयोध्या को लेकर दिये गए बयान के विरोध में विश्व हिंदू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरुण पाठक द्वारा एक नेपाली युवक का जबरन मुंडन कर उसके सिर पर जय श्रीराम लिखने का मामला सामने आया था। इस मामले की पुलिस जांच में बड़ा खुलासा हुआ है।

वाराणसी पुलिस के अनुसार, पीड़ित व्यक्ति नेपाली नहीं बल्कि भारतीय है। वह खुद भी इस पूरे मामले में शामिल है। उसने 1000 रुपए लेकर ये मुंडन कराया था। पुलिस ने बताया कि वह भेलूपुर क्षेत्र के जल संस्थान में सरकारी क्वार्टर में रहता है। उसके माता-पिता दोनों जल संस्थान वाराणसी में सरकारी नौकरी करते थे। मां की मृत्यु के पश्चात उनके स्थान पर भाई को नौकरी प्राप्त हुई।

पुलिस ने कहा, 16 जुलाई को आरोपी अरुण पाठक के साथी राजेश राजभर महगू तथा जय गणेश नाई युवक से उसके घर पर जाकर मिले। उन्होंने उससे कहा कि एक कार्यक्रम में घाट पर चलकर बाल बनवाना है। इसके लिए 1000 रुपये भी मिलेंगे। इस पर वह उनके साथ घाट पर चला गया और मुंडन करा लिया। अरुण पाठक, राजेश राजभर महगू तथा जय गणेश को वह पहले से जानता है। मुंडन के बाद राजेश राजभर महगू ने उसको 1000 रुपये भी दिए।

बता दें कि विश्व हिंदू सेना ने एक पोस्टर जारी किया था। उक्त पोस्टर में हिंदू सेना ने यह चेतावनी दी है कि नेपाली प्रधानमंत्री अपने बयान को वापस लेते हुए माफी मांगें नहीं तो भारत में नेपालियों को गम्भीर परिणाम भुगतने होंगे। इसके बाद विश्व हिंदू सेना के अध्यक्ष अरुण पाठक ने स्वयं गुरुवार को अपने फेसबुक पर कथित नेपाली युवक के मुड़े हुए सिर और उस पर श्रीराम लिखी वीडियो शेयर किया।

मामले में  नेपाल के दूत नीलांबर आचार्य ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की थी जिस पर सीएम योगी ने उनसे अपराध करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का वादा किया। मामले में पुलिस ने सख्त कार्रवाई कर पाँच लोगों को गिरफ्तार किया है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles