violence shajapur

मध्यप्रदेश के शाजापुर में दो समुदाय के बीच एक हिंसक झड़प ने सांप्रदायिक हिंसा का रूप ले लिया। जिसके बाद पूरे इलाके मे धारा 144 लागू की गई है।

कथित तौर पर ईद के दिन महाराणा प्रताप जयंती बनाई गई। साथ ही राजपूत समाज की ओर से शौर्य यात्रा निकाली गई। विवादित नारों के साथ निकली इस पर समुदाय विशेष ने आपत्ति लगाई गई। लेकिन डीजे पर ये जारी रहा। जिसके बाद पथराव हुआ और मामला आगजनी और मारपीट तक पहुँच गया।

इस उपद्रव में 6 वाहनों को जला दिया गया और करीब 12 से ज्यादा वाहनों में तोड़फोड़ की गई। इस दौरान करीब आधा घंटे हुए पथराव से तीन पुलिसकर्मियों समेत करीब 10 लोग घायल हुए हैं।

पुलिस के मुताबिक शनिवार को दोपहर बाद प्रताप जयंती का जुलूस नई सड़क इलाके में पहुंचा भूतेश्वर महादेव मंदिर के पास ईद के चलते एक पंडाल लगा हुआ था और वहां डीजे बज रहा था। इसे बंद कराने को लेकर दो पक्षों के बीच बहस हुई।

पुलिस अधिकारी ने समझाने की कोशिश की, लेकिन इसी दौरान पंडाल की ओर खड़े कुछ लोगों ने पत्थर चलाए।  इसके बाद जुलूस में शामिल लोगों की ओर से भी पथराव शुरू हो गया भगदड़ मच गई।

पथराव के बाद क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। देखते ही देखते इस घटना ने बड़ा रूप धारण कर लिया और पुलिस को शहर में धारा 144 लगानी पड़ी। झड़प के बाद कुछ लोग सड़कों पर हथियार लेकर आ गए जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और मामले को संभाला। फिलहाल शहर में चप्पे पर भारी पुलिसबल तैनात है. वहीं पुलिस ने इस मामले की जांच भी शुरू कर दी है।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?