sms hospital superintendent

sms hospital superintendentउत्तरप्रदेश के गोरखपुर में ऑक्सीजन की कमी के चलते 70 से ज्यादा मरीजों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था. लेकिन इस घटना से बीजेपी शासित सरकारों ने कोई सबक सिखना जरुरी नहीं समझा है.

ताजा मामला राजस्थान का है. जहाँ राज्य के सबसे बड़े अस्पताल सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज में आक्सीजन के अभाव में एक मरीज की तड़पकर-तड़पकर मौत हो गई. इस का खुलासा अस्पताल के ही एक डॉक्टर ने वीडियो बनाकर किया है. वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया.

ये वीडियो चिकित्सक मुकेश महला ने बनाया है. जिसमे अस्पताल की लापरवाही का जीता-जागता सबूत है. मंगलवार को अस्पताल में आक्सीजन की कमी से मरीज गोवर्धन की मौत हो गई थी. इलाज के दौरान उसे ऑक्सीजन लगाने की सख्त जरूरत थी, मगर सप्लाई का नोजल टूटने से मरीज को समय पर ऑक्सीजन नहीं लगी. जिससे तड़पकर मरीज ने दम तोड़ दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वीडियो में चिकित्सक मुकेश ने बताया कि अस्पताल की इमरजेंसी में मरीजों के लिए लाइफ सेविंग में काम आने वाले उपकरण तक नहीं है. हालात यह है कि इमरजेंसी में 10 ऑक्सीजन पाइंट लगे हुए हैं, लेकिन मात्र तीन ऑक्सीजन पाइंट पर नोजल लगे हुए हैं.

इस वीडियो के सामने आने के बाद डैमेज कंट्रोल की कोशिश की जा रही है. आनन-फानन में मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉक्टर यू एस अग्रवाल, एडिशन प्रिंसिपिल डॉ एसएम शर्मा, अस्पताल के अधीक्षक डॉ डीएस मीणा और अतिरिकत अधीक्षक समेत चिकित्सकों ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर पत्रकारों को आश्वस्त करने की कोशिश की सब कुछ अस्पताल में ठीक है.