राजस्थान के अलवर मे कथित गौरक्षा के नाम पर मारे गए अकबर मामले मे VHP नेता नवल किशोर शर्मा के बयानों ने इस पूरे मामले को एक अलग ही मौड़ दे दिया है। जिसके बाद पूरे मामले में दोषी रामगढ़ पुलिस नजर आ रही है।

दूसरी और अकबर के परिजनों का साफ कहना है कि नवल किशोर शर्मा और उसके साथियों ने ही उसके बेटे की जान ली है। चश्मदीद घायल असलम के बयान के अनुसार, नवल किशोर शर्मा और उसके साथियों ने रकबर के शरीर के हर जोड़ पर हमला कर उसे तोड़ दिया था। जिसके बाद वह चीखता रहा।

परिजनों का कहना है कि राजस्थान पुलिस की भले ही लापरवाही तो हो सकती है, लेकिन अकबर को इन लोगों ने पहले ही मार दिया था। बता दें कि पुलिस ने केवल तीन आरोपियों को ही गिरफ्तार किया है। बल्कि दो अब भी फरार है।

akbb1

परिजनों के मुताबिक नवल किशोर शर्मा और उसके साथियों पर भाजपा विधायक ज्ञान देव आहूजा का हाथ है। पिटाई के दौरान भी वे ज्ञान देव आहूजा का हाथ उन पर होने की बात कह रहे थे। अगर असलम बचकर नहीं आता तो इन कातिलों की सच्चाई का कभी पता नहीं चलता।

आरोपियों कि गिरफ्तारी न होने पर अब मेव समाज ने गुरुग्राम-अलवर मार्ग का चक्का जाम करने से लेकर दिल्ली तक कूच करने की चेतावनी दी है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano