haiw

haiw

राजसमंद: वसुंधरा सरकार के शासन में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज बाकि नहीं रही है. एक मुस्लिम बुजुर्ग को पहले हैवानियत से मारा जाता है. फिर उसका महिमामंडन कर उसे हीरो साबित किया जा रहा है.

सोशल मीडिया से लेकर सड़कों तक हत्यारे शंभु के समर्थन में हिन्दुत्वादी गुंडों उलट चुकी है. धारा-144 लागू होने के बावजूद प्रदर्शन आयोजित हो रहे है. न्यायिक व्यवस्था भी अब हिन्दुत्वादी गुंडों से महफूज नहीं है. कोर्ट परिसर में वकीलों और पुलिस के बीच भी झड़प ही रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस सूत्रों के अनुसार कोर्ट परिसर के अंदर एडिशनल एसपी सुधीर जोशी के साथ भी हाथापाई की गई है. उन्हें सिर में पत्थर भी लगा है. उपद्रवियों से झड़प के दौरान एडिशनल SP सहित 31 जवान घायल हुए हैं, जबकि 4 सिपाहियों को गंभीर चोटें आई हैं.

राजसमंद के SP राजेंद्र प्रसाद गोयल ने बताया कि दूसरे राज्यों और दूसरे जिलों से आए हुए लोगों ने आकर माहौल खराब किया. स्थानीय संगठनों से लगातार बातचीत की जा रही थी और सब ने शांति की अपील की थी. अब ऐसे में स्पष्ट हैं कि ये ख़ुफ़िया विभाग की नाकामी है.

पुलिस ने बताया कि 175 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और कई अन्य को नुकसान पहुंचाने और आदेशों का पालन न करने के लिए हिरासत में लिया गया है.