वोटिंग से पहले 500 रुपये देकर BJP वालों ने दलितों की उंगली पर लगा दी स्याही

10:38 am Published by:-Hindi News

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से एक दिन पहले मतदाताओं की उंगुलियों पर जबरन स्याही लगाने का मामला सामने आया है. मामला यूपी की चंदौली सीट का है. इस संसदीय सीट के तहत पड़ने वाले तारा जीवनपुर गांव के लोगों का कहना है कि मतदान से एक दिन पहले उनकी उंगलियों पर जबरन स्याही लगा दी गई. इसके साथ ही उन्हें 500 रुपये दिए गए. ऐसा करने वाले उनकी गांव के रहने वाले ही तीन लोग थे.

उन्होंने कहा, ‘वे लोग भाजपा के थे. उन्होंने हमसे पूछा कि क्या हम पार्टी के लिए वोट डालेंगे. उन्होंने हमें कहा कि अब आप वोट नहीं डाल सकते. किसी को बताना नहीं.’ ईसकी जानकारी होते ही सपा व बसपा कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और सकलडीहा के सपा विधायक प्रभुनारायण यादव के नेतृत्व में अलीनगर थाना पर धरने पर बैठे गए.

विधायक प्रभुनारायण यादव ने बताया कि दलित वोटरों को रोकने के लिए एक प्रत्याशी की ओर से नोट बांटकर अमिट स्याही लगाई जा रही है. ताकि मतदाता बूथ पर पहुंचकर मतदान नहीं कर सके. उन्होंने आरोप लगाया कि जिले में कई जगह आचार संहिता का उल्लघंन किया जा रहा है. उन्होंने आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार कर कार्रवाई की मांग की. उधर, सीओ त्रिपुरारी मिश्र व थानाध्यक्ष अश्वीन चतुर्वेदी आनन फानन में जीवनपुर गांव पहुंच गए.

पुलिस देर रात तक धरने पर बैठे सपा व बसपा कार्यकर्ताओं को समझाने में जुटी रही. इस संबंध में सीओ ने बताया कि नोट बांटकर अमिट स्याही लगाने की शिकायत मिली है. अमिट स्याही लगे मतदाताओं से पूछताछ की जा रही है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. धरने में विधायक प्रभुनारायण यादव के अलावा सपा जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर, बसपा जिलाध्यक्ष घनश्याम प्रधान, गठबंधन प्रत्याशी संजय सिंह चौहान समेत दर्जनों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद हैं.

एसडीएम कुमार हर्ष ने कहा कि शिकायतकर्ता अभी पुलिस थाने में हैं. वे लोग जो शिकायत दर्ज कराते हैं, उसके मुताबिक हम लोग कार्रवाई करेंगे. वे अभी भी वोट डालने के योग्य हैं क्योंकि चुनाव तब शुरू नहीं हुए थे. उन्हें अपनी एफआईआर में लिखवाना होगा कि उनके उंगलियों पर जबरन स्याही लगाई गई है.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें