ilma

ऑल इंडिया सिविल सर्विसज की परीक्षा में कुन्दरकी निवासी इल्मा अफरोज ने 217 वीं रैंक हासिल की है. इल्मा को घर पहुंचकर एसडीएम राम प्रकाश सिंह ने उन्हें बुके देकर सम्मानित किया.

कुंदरकी नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन काजी हबीब अहमद की पोती और किसान मरहूम कारी अफरोज अहमद की बेटी इल्मा ने अपनी प्रतिभा के दम पर उन्होंने पूरे क्षेत्र का नाम रोशन किया.

इल्मा बचपन से पढ़ाई लिखाई में तेज रही है. वह अपनी मां सुहैल परवीन और छोटे भाई काजी अराफात के सहयोग से पढ़ाई के लिए भारत के अलावा फ्रांस, इंगलैंड और अमेरिका तक गई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इल्मा अपनी मां को भरोसा दिलाती रहती थी कि उसको कामयाबी मिलेगी और वह अपने मरहूम पिता काजी अफरोज अहमद का सपना और कुंदरकी का नाम जरूरी रोशन करूंगी.

इल्मा की इच्छा आईपीएस अफसर बनने की है. कुंदरकी में शुरुआती अध्ययन के बाद, इल्मा ने मुरादाबाद में विल्सनिया इंटर कॉलेज से पढाई पूरी की. उन्होंने दिल्ली में सेंट स्टीफेंस कॉलेज से दर्शनशास्त्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की.

वह अध्ययन के लिए वह फ्रांस, इंग्लैंड और अमेरिका भी गईं. इल्मा ने आईएफएमआर और समकालीन दक्षिण एशियाई अध्ययन पुरस्कार जीता. वह पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हिलेरी क्लिंटन के क्लिंटन फाउंडेशन के सचिव रही हैं.