स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सिर्फ मदरसों के लिए फोटोग्राफी के आदेश देकर विवादों में आई योगी सरकार ने एक बार फिर से मदरसों के लिए नया फरमान जारी किया है.

योगी सरकार के आदेशानुसार, सभी मदरसों को मदरसों का नाम, खुलने और बंद होने का वक्त समेत तमाम जानकारियां हिंदी में में नियमित रूप से लिखनी होंगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस बारें में मंत्री बलदेव सिंह ओलख ने बताया कि ये आदेश इसलिए दिया गया ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग जान सकें कि आखिरकार इस मदरसे का नाम क्या है. साथ ही ये भी लोग जान सकें कि यहां किस तरह की पढ़ाई होती है. मदरसों के खुलने और बंद होने का वक्त भी अब बोर्ड पर लिखना होगा.

योगी सरकार के इस फैसले का विरोध भी शुरू हो गया है. मदरसा संचालकों का कहना है कि सरकार इस आदेश के जरिए अल्पसंख्यकों को दबाने की कोशिश कर रही है. उन पर हिंदी भाषा जबरदस्ती थोपी जा रही है.

सरकार के इस आदेश के बाद देवरिया के जिला अल्पसंख्यक अधिकारी ने जिले के सभी मदरसों के लिए मौखिक आदेश जारी कर दिया है. उन्होंने कहा है कि जिले के सभी मदरसे अब उर्दू के साथ-साथ हिंदी में भी मदरसों का नाम लिखें.

Loading...