पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जम्मू-कश्मीर के उड़ी में आतंकी हमले में शहीद होने वाले जवानों के परिजनों को सरकारी नौकरी देने का फैसला किया हैं. इस हमले में राज्य के दो जवान शहीद हुए थे.

ममता ने इस बारें में कहा कि आमतौर पर केंद्र सरकार ऐसा करती है. लेकिन राज्य सरकार ने पहले भी सीआरपीएफ के जवानों की मौत के बाद उनके परिजनों को नौकरी दी है. उन्होंने कहा कि हमले में शहीद दो जवान गंगाधर दोलुई और विश्वजीत घराई  के परिवार के एक-एक व्यक्ति को सरकार मानवता के आधार पर होम गार्ड में नौकरी देंगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हावड़ा के जगत बल्लभपुर में मंगलवार को दोलुई के अंतिम संस्कार के समय राज्य के दो मंत्री अरूप राय व राजीव बनर्जी भी मौजूद थे.

अमर शहीद दोलुई का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के किया गया और उन्हें बंदूकों की सलामी के साथ अंतिम विदाई गई.

Loading...