screenshot_4
वाराणसी. बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा को लेकर एक निजी टीवी चैनल ने नोट बंदी के उपर वाराणसी में एक शो आयोजित किया था. जिसमे बीजेपी नेता के साथ साथ सपा कार्यकर्ता भी शिरकत कर रहे थे लेकिन नोटबंदी को लेकर दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओ में बहस शुरू हो गयी और देखते ही देखते माहौल भड़क गया तथा दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर कुर्सियां चली सपा ने बीजेपी पर कई तरह के आरोप लगाते हुए लंका थाने का घेराव किया और बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्राके खिलाफ तहरीर भी दी है।

एक निजी चैनल ने नोटबंदी को लेकर टॉक शो का आयोजन किया था जिसमे से बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा, सपा के राजकुमार जायसवाल, कांग्रेस के नदीम जावेद आदि नेता नोटबंदी के फायदे व नुकसान को लेकर परिचर्चा कर रहे थे। सभी दलों के समर्थक भी वहां पर कुर्सी पर जमे हुए थे और विषय को लेकर प्रश्र भी कर रहे थे। इसी समय किसी बात को लेकर बीजेपी व सपा कार्यकर्ताओं में हल्की बहस हो गयी। इसके बाद निजी चैनल के लोग मामले को सुलझा पाते कि बात बिगड़ गयी और सपा और बसपा के कार्यकर्ता आपस में लड़ गये। दोनों ही पक्षों ने एक-दूसरे पार्टी के नेताओं के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मारने के लिए कुर्सी भी चलायी। दोनों ही पक्ष में जमकर बवाल हो गया। हंगामे के चलते कार्यक्रम को भी स्थगित करना पड़ गया।
सपा कार्यकर्ताओं ने किया लंका थाने का घेराव

सपा कार्यकर्ताओं ने बीजेपी पर सीएम के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने का आरोप लगाते हुए लंका थाने का घेराव किया। सपा के लोगों ने बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ कार्रवाई के लिए तहरीर दी है। फिलहाल सपा और बीजेपी कार्यकर्ताओं में भिडंत को लेकर तमाम तरह की चर्चा व्याप्त है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...