swa

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा SC-ST एक्ट को पुराना स्वरूप दिये जाने से स्वर्ण खासा नाराज है। बिहार के जहानाबाद में एससी-एसटी एक्ट के खिलाफ अखिल भारतीय सवर्ण सेना ने प्रदर्शन करते हुए रेल रोक दी और सड़क यातायात को भी प्रभावित कर दिया।

सवर्ण सेना का विरोध भागलपुर में भी देखने को मिला। तिलकामांझी चौक पर पूरे चौराहों को बांस से घेर दिया गया और विरोध में टायर भी जलाया। इस दौरान बंद समर्थकों ने जम कर हंगामा किया। वाहन चालकों के साथ मारपीट की। इतना ही नहीं सवर्ण समाज के नेताओं की गिरफ्तारी के बाद  कार्यकर्ताओं ने खलीफाबाग चौक, सूजागंज बाजार स्टेशन चौक  सभी जगह बंद करवाया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान जाम में मेडिकल कॉलेज मरीज को ले जा रहे एक टेम्पो चालक को विरोध झेलना पड़ा। आंदोलनकारियों ने टेंपो को रोक दिया। हालांकि पुलिस ने मरीज को किसी तरह अस्पताल ले जाने के लिए निकाला। आंदोलनकारियो ने टेम्पो के शीशे तक तोड़ डाले। इतना ही नहीं जाम के कारण न्यायालय जा रहे कई जजों की गाड़ियों के भी रूट बदले गए।

हालांकि पुलिस ने उपद्रव मचाने के आरोप में नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें गुलशन कुमार चौधरी, जिलाध्यक्ष सानू एनगाही, सुधांशी मिश्रा, अभिषेक तिवारी, गौतम कुमार, अरुणा मिश्रा को डीएसपी राजवंश सिंह ने गिरफ्तार कर कोतवाली थाने ले जाया गया। देर शाम गिरफ्तार आंदोलनकारियों को पुलिस ने बांड भरने के बाद छोड़ दिया।