यूपी के पूर्वांचल में दमदार राजनीतिक साख रखने वाली पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अयूब के खिलाफ लखनऊ में एक युवती ने यौन शोषण और हत्या का मुकदमा दर्ज कराया हैं. डॉ. अयूब के खिलाफ लखनऊ के मडियावं थाना में आज दोपहर में केस दर्ज किया गया है.

युवती के परिवारवालों ने डॉ. अयूब पर पढ़ाने और नौकरी के नाम पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है. परिजनों का आरोप हैं कि युवती को डॉक्टर बनाने का लालच देकर उन्होंने यौन शोषण किया था. परिजनों का कहना है कि डॉ. अय्यूब ने विरोध करने पर उनकी पुत्री को ऐसी दवा दे दी, जिससे उसकी दोनों किडनी खराब हो गयी हैं. हालात नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने जवाब दे दिया तो कल इलाज के लिए ट्रामा में भर्ती कराया गया पर रात में ही उसकी मौत हो गई.

पीडि़ता की मां ने कहा कि आरोपी अपने फ्लैट पर बेटी का शारीरिक शोषण करता था. जब बेटी की तबियत खराब हुई तो उसे इलाज के लिए बुला लिया और गलत दवा चलाने लगा. पीडि़ता की मां का कहना है कि बेटी की करीब नौ-दस महीने से तबियत खराब है. समस्या बताने पर डॉ. दो माह तक बुखार बताकर दवा चलाते रहे. सुधार न होने पर अल्ट्रासाउंड किया, जिसमें पथरी बताकर 15 दिन दवा खाने को कहा। इसके बाद बेटी को ब्लीडिंग होने लगी. इस पर आरोपी ने कहा कि चिंता मत करो माह भर में स्थिति ठीक हो जाएगी. इस दौरान तमाम दवाएं और दीं तथा कई निजी अस्पतालों में दिखाने के बहाने झांसा देते रहे.

इस बारें में डॉ. अय्यूब ने कहा कि यह सारी साजिश समाजवादी पार्टी की है. उन्होंने कहा कि 2012 के विधानसभा चुनाव में भी ऐसी हवा उड़ी थी तब सुमित्रा नाम की एक लड़की ने ऐसे ही गंभीर आरोप लगाए थे. इस बार खलीलाबाद विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे है. यहां 27 फरवरी को मतदान होना है, इससे पहले ही फिर से सपा ने साजिश करके यह काम किया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें