Wednesday, June 23, 2021

 

 

 

यूपी में आंदोलन करने पर किसानों को भेजे गए 50 लाख रुपए के नोटिस

- Advertisement -
- Advertisement -

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाये गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन करने को लेकर उत्तर प्रदेश के संभल ज़िले में किसानों को नोाटिस भेजे जा रहे हैं।

संभल के उपजिला मजिस्ट्रेट (SDM) ने छह किसानों को 50-50 लाख रुपये के निजी मुचलका भरने का नोटिस दिया। इशमें भारतीय किसान यूनियन असली के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह, जयवीर सिंह, सतेंद्र, वीर सिंह और रोहदास शामिल हैं। यह नोटिस 12 और 13 दिसंबर को सीआरपीसी की धारा 111 के तहत जारी किया गया है।

उपजिलाधिकारी ने नोटिस में कहा कि किसानों के आंदोलन से शांतिभंग का खतरा है। इसीलिए 50-50 लाख रुपये के निजी मुचलके के जरिए दो जमानतें भरने के लिए नोटिस जारी हुआ है। किसानों ने कहा कि सरकार आँदोलन का दमन करना चाहती है। उन्होंने मुचलका भरने से इनकार कर दिया।

एसडीएम दीपेंद्र यादव ने गुरुवार को कहा, ‘हमें हयात नगर पुलिस थाने से रिपोर्ट मिली थी कि कुछ व्यक्ति किसानों को उकसा रहे हैं और इससे शांति भंग होने की आशंका है।’ उन्होंने बताया कि थाना अध्यक्ष की रिपोर्ट में कहा गया था कि इन लोगों को 50-50 हजार रूपए के मुचलके से पाबंद किया गया।

एसपी के अनुसार एसडीएम के छुट्टी से लौटने के बाद राशि सुधारकर 50 हजार के बॉन्ड की प्रक्रिया शुरू होगी। हालांकि किसान नेताओं का कहना है कि वे सरकार और प्रशासन की इन कोशिशों की बजाय जेल चले जाने को प्राथमिकता देंगे।

बीकेयू (असली) के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह यादव, संजीव गांधी के साथ ही राष्ट्रीय किसान मजदूर संघर्ष के राजवीर सिंह को भी यह नोटिस जारी हुआ है। इन्होंने कहा, ‘प्रशासन आखिर किसानों के प्रदर्शन से इतना डर क्यों रहा है? क्या हम आतंकवादी हैं? इन्हें अच्छे से पता है कि 50 लाख जैसी रकम हमारे पास नहीं है। पूरे देश में प्रदर्शन हो रहे हैं लेकिन 50 लाख की धमकी जैसी बात कहीं सुनने में नहीं आई है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles