police

उत्तरप्रदेश के कानपुर में दबंगों द्वारा 6 महीने की गर्भवती दलित महिला को पीटे जाने का मामला सामने आया हैं. पीटाई के दौरान पेट में चोट लगने के कारण उसका गर्भपात भी हो गया.

पीड़िता के पति के अनुसार, उसकी पत्नी रामप्यारी (32) सुबह शौच करने के लिए खेत की ओर गई थी. इस दौरान खेत मालिक अवध नरेश रामप्यारी को मारते हुए उसके घर लेकर आया. घर के बाहर उसने रामप्यारी के साथ निर्दयता से मारपीट की. साथ ही उसने खेत में रामप्यारी से मल भी साफ कराया.

जयचन्द के मुताबिक़ उसकी पत्नी ने पिटाई के बाद पेट में तेज दर्द हाने की शिकायत की और उसी रात को घर पर ही उसका गर्भपात हो गया. इस मामलें की जब पुलिस में शिकायत की गई तो पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज नहीं की. जयचंद ने बताया कि पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने से मना कर दिया, जिसके बाद वह भ्रूण के साथ रातभर कोतवाली में ही बैठा रहा.

अगले दिन घाटमपुर इंस्पेक्टर प्रभारी अनिल कुमार ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर उसे गिरफ्तार किया. पुलिस ने भ्रूण का पंचनामा करा पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें