उत्तर प्रदेश में चल रहे विधानसभा चुनावों के पहले चरण के मतदान के बाद राष्ट्रीय समाचार पत्र दैनिक जागरण को निर्वाचन आयोग की आचार संहिता को तोड़ना भारी पड़ गया हैं. इस मामलें में ‘जागरण.कॉम’ के संपादक शेखर त्रिपाठी को गिरफ्तार किया गया हैं.

दरअसल, जागरण ने पहले चरण के मतदान के बाद आचार संहिता की धज्जियाँ उड़ाते हुए एग्ज़िट पोल की ख़बर प्रकाशित की थी. इस मामलें में मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम ज़ैदी ने संज्ञान लेते हुए राज्य में पहले चरण के मतदान हुए सभी 15 ज़िलों के ज़िला निर्वाचन अधिकारियों को मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामलें में निर्वाचन आयोग ने भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत आरपी की धारा 126a और 126b अधिनियम, 1951 के तहत मामला दर्ज कर कर पहले चरण के मतदान के बाद एक्जिट पोल के प्रकाशन में शामिल एजेंसियों के संबंधित अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू करने का आदेश दिया था.

निर्वाचन आयोग के इस आदेश के बाद दैनिक जागरण समाचार पत्र के मालिकों पर छापे मारे गए. कारवाई के तहत जागरण न्यू मीडिया के सीईओ सुकीर्ति गुप्ता, जागरण इंग्लिश ऑनलाइन के डिप्यूटी एडिटर वरुण शर्मा और डिजिटल हेड पूजा सेठी के घरों पर भी छापा मारा गया.

Loading...