पत्रकारिता से राजनीति में आए यूपी बीजेपी नेता शलभमणि के खिलाफ राजघाट थाने में मॉडल कोड ऑफ़ कंडक्ट के उल्‍लंघन के मामले में धारा 188 और 171एच के अर्न्‍तगत एफआईआर दर्ज की गई.

शलभमणि पर आरोप है कि उन्होंने 6 जनवरी को गोरखपुर के निर्मल चौराहे के पास एक मैरिज हाउस में दिव्यांग बच्चों को मोबाइल फोन बांटे. इस कार्यक्रम के लिए ना तो कोई अनुमति ली गई थी और ना ही निर्वाचल अधिकारी को इसकी जानकारी दी गई थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिला प्रशासन ने कार्यक्रम को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए उन्हें नोटिस भेजा था. संतोषजनक जवाब न मिलने पर प्रशासन की टीम ने राजघाट थाने में शलभ मणि त्रिपाठी, मैरेज हाउस के प्रबंधक इरफान और विनय कुमार सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.

अधिकारियों का कहना है कि आचार संहिता के दौरान किसी भी नेता को कुछ बांटने की इजाजत नहीं दी जा सकती. शलभमणि के खिलाप धारा 188 और धारा 171 के तहत मुकदमा किया गया है..

Loading...