उत्तरप्रदेश में चुनाव नतीजों को आए 48 घंटों का वक्त नहीं बिता कि बीजेपी विधायक जीत के नशें में खुद को कानून से भी ऊपर समझने लगे हैं. सवायजपुर सीट से बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायक माधवेन्द्र सिंह पर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को फोन पर धमकाने का आरोप लगा है.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे ऑडियो में विधायक और पुलिस अफसर की बातचीत हैं. जिसमे बीजेपी विधायक सीओ अरविन्द वर्मा को धमका रहे हैं. पुलिस अधीक्षक चंद्र प्रकाश ने बताया कि सवायजपुर से पिछले 11 मार्च को विधायक चुने गए माधवेन्द्र सिंह और शाहाबाद के पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) अरविन्द वर्मा के बीच कथित बातचीत का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. पूरे मामले का संज्ञान लिया गया है और अपर पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) बी. सी. दुबे को मामले की जांच सौंपी गई है.

आरोपी विधायक माधवेन्द्र सिंह का कहना हैं कि सोमवार रात शाहाबाद क्षेत्र स्थित थमरिया गांव में एसपी से जुड़े कुछ लोगों ने शशिलेष नामक उनके कार्यकर्ता के घर में घुसकर मारपीट की थी. पीड़ित ने जब 100 नम्बर पर फोन किया तो मौके पर पहुंची पुलिस ने वादी को उठा लिया और उसकी मां और पत्नी के साथ भी मारपीट की. विधायक ने कहा कि जब उन्होंने शाहाबाद के पुलिस क्षेत्राधिकारी अरविन्द वर्मा को फोन किया तो उन्होंने कहा कि यह उनके स्तर का मामला नहीं है। 100 नम्बर हमारे तहत नहीं आता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विधायक ने कहा कि उन्होंने अफसर से विनम्रता से बात की थी, मगर उन्होंने गैरजिम्मेदाराना तरीके से बात की. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) अरविन्द वर्मा सट्टा खिलवाने और नशीले पदार्थों की तस्करी जैसे गैर-कानूनी काम कराते हैं, लिहाजा उन्होंने उनसे इन सभी मामले की जांच करवाकर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की बात कही.

 

Loading...