लखनऊ। उत्तर प्रदेश में चल रही मीट कारोबारयों की हड़ताल समाप्त हो गई हैं. ये हडताल ऑल इण्डिया जमातुल कुरैश के बैनर तले मीट कारोबारयों के प्रतिनिधिमंडल की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद खत्म हुई हैं.

मीट व्‍यापारी सिराजुद्दीन कुरैशी ने इस बारें में कहा कि ”योगीजी ने कहा कि किसी के खिलाफ गलत कार्रवाई नहीं होनी चाहिए. अगर ऐसे कुछ होता है तो हमें बताइए। हमने उन्‍हें कई परेशानियां गिनाई हैं- जैसे गाड़‍ियां रोक ली जाती हैं, लाइसेंसी बूचड़खानों को नियमों का पालन करने के लिए बंद किया गया है. उन्‍होंने कहा कि किसी का नाम, धर्म देखकर कार्रवाई नहीं की जाएगी.”

वहीँ प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीट कारोबारियों को भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार पूर्वाग्रह से ग्रस्त होकर कोई कार्य नहीं कर रही है, साथ ही अधिकारियों को निर्देश हैं कि वे किसी जाति विशेष, धर्म और चेहरे के आधार पर कार्रवाई ना करें.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री ने आधे घंटे चली बैठक में प्रतिनिधिमण्डल द्वारा बतायी गई समस्याओं और परेशानियों को ध्यानपूर्वक सुना और कहा कि यह सरकार सबकी है, जाति, पंथ, मजहब आदि के आधार पर किसी के साथ कोई भेदभाव या अन्याय नहीं होने दिया जाएगा.

याद रहे प्रदेश में मीट व्यापार बाधित होने से रोजाना करीब 1400 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा था. मीट कारोबारियों ने मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपा.

Loading...