Saturday, September 18, 2021

 

 

 

धर्मनिरपेक्षता का हवाला देकर कोचीन यूनिवर्सिटी ने नहीं दी सरस्‍वती पूजा की इजाजत, कहा – धार्मिक गतिविधियों पर पूर्ण पाबंदी

- Advertisement -
- Advertisement -

केरल में कोचीन यूनिवर्सिटी ने उत्तर भारतीय छात्रों को केंपस में सरस्‍वती पूजा की इजाजत देने से साफ मना कर दिया है। यूनिवर्सिटी ने धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों का हवाला देते हुए कहा कि कैंपस धर्मनिरपेक्ष है इसलिए हम अपने परिसर में ऐसी किसी भी धार्मिक गतिविधियों की इजाजत नहीं दे सकते हैं।

मामला कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नॉलजी के कुट्टनड़ कैंपस का बताया जा रहा है। जहां कुछ उत्तर भारतीय छात्रों ने 25 जनवरी को कुलपति (वीसी) को पत्र लिखकर बसंत पंचमी के मौके पर सरस्वती पूजा करने के लिए 9 और 11 जनवरी को इजाजत मांगी थी।

जिस पर वाइस चांसलर ने कहा कि यह धर्मनिरपेक्ष कैंपस है, और इसमें किसी धर्मविशेष के समारोहों को अनुमति नहीं दी जा सकती। ज्वाइंट रजिस्ट्रार का कहना है कि यूनिवर्सिटी किसी खास धर्म के कार्यक्रम का आयोजन करने की अनुमति नहीं दे सकता।

बता दें कि इससे पहले भी यह कॉलेज विवादों में रह चुका है। पिछले साल कॉलेज को अनिश्चितकाल के लिए 25 जनवरी से बंद कर दिया गया था। कैंपस में एक कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर बीफ कटलेट परोसे गए थे। इसके बाद दो समुदायों के बीच झड़प हो गई थी।

उत्तर भारतीय छात्रों ने कथित तौर आरोप लगाया था कि शाकाहारी होने के बावजूद उन्हें गोमांस परोसा गया था. 25 जनवरी को कॉलेज में हुए सेमिनार के बाद यह घटना घटी थी। छात्रों ने आरोप लगाया था कि गोमांस परोसा जाना कॉलेज के छात्रों और अध्यापकों के समूह द्वारा लिया गया बदला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles