‘चमकी’ बुखार: केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन पहुंचे मुजफ्फरपुर, युवक ने किया अर्धनग्‍न प्रदर्शन

4:47 pm Published by:-Hindi News

बिहार के मुजफ्फरपुर में रविवार को आठ और बच्चों की चमकी के कहर से मौत के बाद अब तक इससे मरनेवाले बच्चों की कुल संख्या बढ़कर 98 जा पहुंची है। इस भयावह स्थिति की जानकारी लेने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन जब मुजफ्फरपुर पहुंचे तो उन्हे विरोध का सामना करना पड़ा। इस दौरान आक्रोशित लोगों में शामिल एक युवक ने अर्धनग्‍न प्रदर्शन किया।

विदित हो कि एसकेएमसीएच में रविवार को केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने एईएस की स्थिति का जायजा लिया। उनके साथ केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍यमंत्री अश्विनी चौबे तथा बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय भी थे। इसी दौरान एक मरीज के परिजन ने अश्विनी चौबे से अपने मरीज को देख लेने की गुहार लगाई, लेकिन उन्‍होंने अनसुनी कर दी। ऐसे में हंगामा खड़ा हो गया। युवक ने बताया कि उसका भाई अस्‍पताल की गैलरी में दो महीने से पड़ा है। उसकर इलाज गैलरी के फर्श पर ही किया जा रहा है। बीमार भाई का हाल दिखाने के लिए मंत्रीजी का हाथ पकड़ा, लेकिन वे झटक कर चले गए।

समाचार एजेंसी एएनआई ने चमकी बुखार पीड़ित बच्चे के एक पिता के बयान का हवाला दिया, जिसमें उन्होंने कहा- यहां पर मरीजों के लिए ठीक से व्यवस्था नहीं की गई है। डॉक्टरों बच्चों पर ठीक से ध्यान नहीं दे रहे हैं। हर घंटे बच्चे दम तोड़ रहे हैं। पिछली रात 12 बजे से कोई डॉक्टर ड्यूटी पर नहीं है, सिर्फ कुछ नर्स ड्यूटी कर रही हैं।

बिहार के सुरेश शर्मा ने कहा, एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) पर सरकार शुरू से ही काम कर रही है। दवाओं की कोई कमी नहीं है। हालांकि, वर्तमान में आपातकालीन स्थिति की तुलना में बेड और आईसीयू का अभाव है। श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के अधीक्षक सुनील कुमार शाही ने बताया कि मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से मौत का आंकड़ा 84 पहुंच गया है।

पटना पहुंचे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा, अभी मैं मुजफ्फरपुर अस्पताल जाकर पूरे हालात को देखूंगा। हम बिना सब कुछ बताएं यहां से नहीं जाएंगे। हम सबको जो मिलकर करना है, उस पर बात होगी। हिट में जो एक्सपोज हुआ है, उसकी बॉडी को ठंडी कराएं। हिट स्ट्रोक से लोग प्रभावित हो रहे हैं. जरूरत उसमें खुद को बचाने की है।

उन्होंने आगे कहा, अभी अचानक यहां हिट स्ट्रोक के कारण प्राण जा रहे हैं, जोकि दुख की बात है। ये बच्चे और बुजुर्ग को परेशान ज्यादा करेगा। उन्हें बचाने की कोशिश होनी चाहिए। ब्रेन से सम्बंधित ज्यादा परेशानी होती है। वहीं, पटना एयरपोर्ट पर जन अधिकार छात्र परिषद के छात्रों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को काले झंडे दिखाए और प्रदर्शन किया।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें