शिवराज के राज में गरीबी से तंग आकर पिता ने 10-10 हजार रु में बेचीं अपनी बेटियां

11:23 am Published by:-Hindi News

shivr

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का गरीबों के हमदर्द होने के दावें की पोल खुल गई हैं. अपनी सरकारी योजनाओं के दम पर खुशहाल मध्यप्रदेश का दम भरने वालें शिवराज के राज में एक पिता अपनी गरीबी के कारण दो बेटियों को बेचने पर मजबूर हो गया.

इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना के दतिया जिले की हैं. जहाँ मां की मौत के बाद मजबूर बाप ने अपनी दो नाबालिग बेटियों को गरीबी से तंग आकर कंजरों के डेरे में दस दस हजार में बेच दिया. जानकारी के अनुसार, बीकर गांव में रहने वाले रमेश अहिरवार की पत्नी का एक साल पहले निधन हो गया था.

रमेश के पास ना तो काई जमीन है और ना ही कोई स्थायी काम-धंधा,वो और उसकी पत्नी किसी तरह मेहनत मजदूरी कर अपने तीन बच्चों को पाल रहे थे. पत्नी के निधन के बाद 6 और 13 साल की बेटियों के अलावा 10 साल के बेटे की परवरिश की पूरी जवाबदारी रमेश के कंधों पर आ गईं.

इस दौरान रमेश को गांव में भी मजदूरी मिलना बंद हो गई तो वो झड़िया गांव में कंजरों के डेरे पर काम करने लगा. कुछ समय बाद रमेश ने कंजरों के अलग-अलग डेरों में अपनी 6 और 13 साल की बेटियों को 10-10 हजार रुपए में बेच गायब हो गया.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें