polio

गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिस ने पोलियो की दवा बनाने वाली कंपनी के 5 अधिकारियों पर केस दर्ज किया है जिसमें कंपनी के डायरेक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोप है कि कंपनी बायॉमेड द्वारा बनाई गई ओरल पोलियो वैक्सीन में टाइप-2 पोलियो वायरस पाए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह कंपनी केंद्र सरकार को पोलियो की दवा की आपूर्ति करती है लेकिन इस दवा की जांच में सामने आया है कि इसमें बैन तत्व पी-2 एटीजन पाया गया है। बताया जा रहा है कि सीडीएससीओ के अधिकारियों और स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय ने मिल कर यह मामला दर्ज करवाया है।

एक सरकारी अधिकारी ने कहा, ‘‘कंपनी में पांच निदेशक हैं। प्रबंध निदेशक को गिरफ्तार कर लिया गया है, हमने पुलिस से अन्य निदेशकों का पता लगाने के लिए कहा है क्योंकि उनसे भी पूछताछ की जरूरत है’’। स्वास्थ्य मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र सरकार को भी अलर्ट किया कि कहीं वहां पर भी इस पोलियो दवा का इस्तेमाल न हो।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सबसे पहले यह मामला तब सामने आया, जब उत्तर प्रदेश के कुछ बच्चों के मल में इस वायरस के लक्षण पाए गए। इन सैंपल्स को जांच के लिए भेज दिया गया। अधिकारी के मुताबिक, जांच में यह पुष्ट हुआ कि सैंपल में टाइप-2 पोलियो वायरस मौजूद हैं।

एक अधिकारी ने बताया, ‘सभी को निर्देश दिए गए थे कि जिसमें टाइप 2 वायरस हों उस ओरल पोलियो वैक्सीन को नष्ट कर दिया जाए।’ बता दें कि भारत सहित पूरी दुनिया से पोलियो का टाइप 2 विषाणु खत्म हो चुका है।

Loading...